Monday, November 2, 2015

एक प्रयास पॉडकास्ट का यू-ट्यूब पर




4 comments:

रश्मि प्रभा... said...

सधे ढंग से मैं से परे मैं को उभारा है - सस्नेह

देवेन्द्र पाण्डेय said...

बड़ी मेहनत की है आपने इस पोस्ट के लिए। यह आपकी आवाज बता रही है। ऐसी अतुकांत कविताएं, पाठ के साथ शब्द भी चाहती है। पाठक अपनी मर्जी से पढे और अर्थ लगाए। ये कवितायें इतनी सरल भी नहीं होती कि सुन लिया और समझ में आ गया। अच्छा लगा।

ब्लॉग बुलेटिन said...

ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, ब्लॉग बुलेटिन: प्रधानमंत्री जी के नाम एक दुखियारी भैंस का खुला ख़त , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

ravindra said...

ऊपर ब्लॉग बुलेटिन ने 'प्रधानमंत्री के नाम एक दुखियारी भैंस का खुला ख़त' नाम से जिसे अपना आज का बुलेटिन बताया है, असल में वो फ़ेकिंग न्यूज़ की पोस्ट है, जो 15 अक्टूबर 2015 को प्रकाशित हुई थी. इनकी तरह और भी कई लोगों/ब्लॉग्स ने बिना क्रेडिट दिये इसे प्रकाशित किया है.