Friday, July 30, 2010

हिन्दी----------------या मराठी------------------------------या फ़िर गुजराती-----------क्या सुनेंगे आप----???

सीखने को नहीं मिला --------------पर गाने का जूनून हमें यहाँ तक ले आया---------------------

१---हिन्दी -----देवेन्द्र पाठक(भाई)



मराठी--- रचना बजाज (बहन)


गुजराती--- अर्चना चावजी (मैं)
विशेष:-- ये गीत सागर नाहर जी के ब्लॉग पर सुना था मैने उनका आभार !!!

13 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

आप तीनों को सुनकर बहुत आनन्द आया!

अनूप शुक्ल said...

बहुत सुन्दर! तीनो गाने बहुत अच्छे लगे!

प्रवीण पाण्डेय said...

तीनों गाने बहुत सुन्दर।

राज भाटिय़ा said...

तीनो ही एक से बढ कर एक जी

राजीव तनेजा said...

आप तीनों को सुनकर अच्छा लगा

गिरीश बिल्लोरे said...

वक़ील साब क्या खूब गाया मेरी पसन्द का का गीत फ़िल्म उपकार से
लता जी आशा जी मन्ना दा अच्छे लगते है इन सितारों की तुलना करना मुश्किल है . मैं तो उन कोकिला मां को प्रणाम करता हूं जिनकी आप सन्तान हैं

दीपक 'मशाल' said...

ये त्रिवेणी बड़ी गज़ब की है.. आल इन वन ...

संजय भास्कर said...

सुनकर अच्छा लगा

संजय कुमार चौरसिया said...

bahle hi marathi aur gujraati naa aati ho fir bhi teenon ko sunkar achchha laga

http://sanjaykuamr.blogspot.com/

MUFLIS said...

achhaa hai ...
bahut achhaa !!

vatsal said...
This comment has been removed by the author.
Vatsal said...

i feel so blessed to have so awesome parents

Scintillating said...

aap logon ki awaz sun kar bahut achhcha laga... mai miloo door hun but aap sab ke sath hone ka ehsaas dila diya in gano ne :) thank you very much for sharing