Tuesday, August 10, 2010

" मेरे प्यारे वतन " ---डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" जी की एक देशभक्ति रचना

आइये आज से मनाइए स्वतंत्रता पर्व ----- मेरी आवाज में सुनिए डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" जी की एक देशभक्ति रचना------        

                                                        "मेरे प्यारे   वतन "



8 comments:

राहुल प्रताप सिंह राठौड़ said...

बढ़िया लिखा है आपने

विदेशी भाषायों को सीखने के लिए सबसे प्रभावकारी सोफ्टवेयर “Rosetta Stone”

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

अर्तना चावजी!
मेरे इस देश-भक्ति से ओत-प्रोत गीत को अपना सुन्दर और मधुर स्वर देने के लिए आपका आभार!

प्रवीण पाण्डेय said...

बहुत सुन्दर गीत और गायन।

arvind said...

बहुत सुन्दर गायन।

संजय कुमार चौरसिया said...

jai hind

http://sanjaykuamr.blogspot.com/

राज भाटिय़ा said...

बहुत सुन्दर गीत

संजय भास्कर said...

बहुत सुन्दर
बहुत सुन्दर

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत सुन्दर ...