Monday, January 3, 2011

एगो चुराया हुआ पोस्ट...तनि सुनियेगा तो...

एक तो ---नए साल की पहली पोस्ट .....................अऊर दूसरे वो  भी  चुराई हुई............ऊ का कहते हैं ------चोरी त चोरी ऊपर से सीनाजोरी.............
तनि सुनियेगा तो.......अऊर बूझ सके तो बताइयेगा तो------------- ई ---आवाज ...................कहीं सुना है का-----------किसका है ?

20 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

इस बात से सहमत है कि कृति या गीत सुनकर समझ में आ जाता है कि कृति पुरुष की है की नारी की।

Girish Billore Mukul said...

Vah

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

:)

मनोज कुमार said...

ई आबाज त सुना हुआ लगता है। कल्हे हम माइक-फाइक लेकर जा रहे हैं, टेस्ट करके मिला लेंगे।

abhi said...

वाह वाह...मजा आ गया..पोस्ट तो पढ़े ही थे और आज सुन भी लिए...

राज भाटिय़ा said...

बहुत मधुर आवाज ओर गीत भी अति मधुर, धन्यवाद जी

ब्लॉ.ललित शर्मा said...

नाईस-
हम भी चक्कर में पड़ गए, क्या चोरी हो गया भाई।
दौड़े दौड़े आए तो ये पोस्ट मिला :)

anshuja said...

:-)

मनोज भारती said...

बहुत ही मधुर आवाज है ... चला बिहारी की पोस्ट उन्हीं की जुबानी सुन कर मजा आ गया ...

एस एम् मासूम said...

Avinash

Anonymous said...

यह चुराई हुई पोस्ट का वाचन बहुत अच्छा लगा!

राजेश उत्‍साही said...

कहां रपट लिखाई है चोरी की। गवाही हम देंगे। यह आवाज तो सलिल की भी नहीं है और बिहारी ब्‍लाग्‍ार की भी नहीं है।
पर हां जिनकी है उन्‍हें तो हम जानते हैं। पर आपको क्‍यों बताएं।

नीरज गोस्वामी said...

पोस्ट तो सलिल भाई की है आवाज़ के बारे में कह नहीं सकते हैं...
जिसका भी आवाज़ है खूब है...मन्त्र मुग्ध कर देने वाला है...
नीरज

मुकेश कुमार सिन्हा said...

bade bhaiya sachche me postwa to unka hi lag raha hai.....:P

रंजना said...

ई त हमरे भैया जी का पोस्ट का पाडकास्ट है... आज तलक उनका आवाज सुने तो नहीं हैं,पर विश्वास है कि उनका ही आवाज है...
ठीक कहे न ????

दीपक 'मशाल' said...

Salil ji hi ho skte hain.. :) mazedar

M VERMA said...

कोई भी हो सुनकर अच्छा लगा

vijai Rajbali Mathur said...

शायद रंजना जी का अनुमान सही है की यह आवाज़ स्वयं सलिल वर्मा जी की ही है .

संजय @ मो सम कौन... said...

हम बता सकते हैं कि किसकी आवाज है, लेकिन बता दिये तो हमारे भैया जी की बात झूठी पड़ जायेगी, कि संजय बाबू की तो हर बात में रहस्य रहता है। इसीसे नहीं बता रहे कि खुदै सलिल भैया की आवाज है।

संजय भास्‍कर said...

बहुत मधुर आवाज