Sunday, July 15, 2012

सावन - एक गीत

एक गीत देवेन्द्र पाण्डेय जी के ब्लॉग से--
गड़गड़ कड़कड़ कड़ उमड़ घुमड़ ......

http://yourlisten.com/Archana/sawan-devandra-pandey

Share Music - Download Audio - Sawan- Devandra Pandey

डिवशेअर काम नहीं कर रहा..



पढ़े यहाँ उनके ब्लॉग  बेचैन आत्मा  पर......

9 comments:

देवेन्द्र पाण्डेय said...

कल की काव्य गोष्ठी में मैने आपका गीत सभी को सुनाया था। सभी ने आपकी आवाज की खूब तारीफ की। कंचन जी अत्यधिक प्रभावित थे। आपने इसे देर से लगाया मैने एक दिन पहले ही जोड़ दिया था।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

बहुत बढ़िया...!

Ramakant Singh said...

प्रकृति के रंगों को बिखेरती रचना को सुन्दर आवाज देने के लिए बधाई साथ ही गीतों के सुन्दर बोल के लिए श्री देवेन्द्र पाण्डेय जी को भी नमन .
आज गीतों को ये नैसर्गिक शब्द कहाँ मिल पाते हैं ...

प्रवीण पाण्डेय said...

पार्श्व में टिपटिप और गरज और साथ में इतनी सुन्दर कविता, इतने मधुर स्वरों में...

Kanchan Baranasi said...

aapki sumdhur svrlhri se pbhavit huaa
maa shaarda ki kripaa bani rahe

India Darpan said...

बहुत ही बेहतरीन और प्रशंसनीय प्रस्तुति....


जयपुर दर्पण
पर भी पधारेँ।

सदा said...

अनुपम प्रस्‍तुति ...

abhi said...

Awesome...main to dooob gaya tha...bheeng gaya tha baarish mein....:)

Arvind Mishra said...

आपने स्वरों से वर्षा सा प्रभाव उत्पन्न कर दिया -वाह!