Saturday, April 2, 2016

कसीदाकारी .... हाथ से काढ़े रूमाल

1984 में सिलाई/कढ़ाई/बुनाई सीखी थी ...तब के बनाए कुछ रुमाल अब तक संभाल कर रखे हैं ...एक झलक -
1-हेरिंगबोन 


2-बटनहोल 


3- पेचवर्क 


4-रनिंग स्टिच 


5- फेदर + बंद बटनहोल 


6- स्टेम स्टिच 


7- रेखा चित्र (स्टेम स्टिच)


8- चेन स्टिच 


9- लॉन्ग एंड शॉर्ट स्टिच 


10- फ्रेंचनॉट


11- नेट वर्क 


12- नेट पेच वर्क 


13- छाया चित्र (स्टेम स्टिच)


14- सीप स्टिच 


15- मोती वर्क 


16-एप्लीक वर्क 


17- वन स्टिच 


18- कट वर्क 


19- लच्छी वर्क 


20- फ्रेंचनॉट + लेज़ीडेजी 


21- 



22- पदम स्टिच 


23- कश्मीरी 



3 comments:

Shashi said...

a woman who can lead anywhere with confidence is Archana . God bless these wonderful hands !!

ब्लॉग बुलेटिन said...

ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, " सरकार, प्रगति और ई-गवर्नेंस " , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

Asha Joglekar said...

सुंदर कसीदाकारी।