Saturday, June 12, 2010

उसने लिखा...................बहुत दिनों के बाद.......................

आज वो लौट आई है ...................बडे दिनों के बाद..........मै खुश हूँ..............

5 comments:

आचार्य जी said...

आईये जानें .... क्या हम मन के गुलाम हैं!

Jandunia said...

nice

संगीता पुरी said...

आपके द्वारा दिए गए लिंक पर जा रही हूं !!

Vinay Prajapati 'Nazar' said...

वेल सेड्

mridula pradhan said...

very nice.