Monday, January 1, 2018

1 जनवरी 2018

१ जनवरी,2018

आओ,आओ,आओ,
यहाँ रखी हैं शुभकामनाएं सबके लिए,
ढेरों आशीष,
और अनंत स्नेह...
उठा लो अपने हिस्से का सब आकर ..
हो भी क्यो न !😊
आखिर सेल लगी है
मेरी खुले दिल की ...
और फ्री गिफ्ट के लिए कल फिर आना
मिक्स हो गए हैं,
छँटवा नहीं सकती
कल खोलूंगी उन्हें
पहले आओ-पहले पाओ!
की तर्ज पर...👍

जितनी खुशियां बिखरी हैं
उन्हें भी समेट लेना
अंतिम समय नजदीक है
फिर न कहना
बताया नहीं!
बुलाया नहीं!
और हाँ
ये किसी एप्प से ऑटोजनरेट नहीं
जो सबको एक सा माल मिले!!!

जिसको,जिसकी,जितनी
जरूरत है,सब मिलेगा
बस!अपनी ईमानदारी
का बैंक खाता
मुझसे रिश्ते की सच्चाई
से लिंक करवा लेना पहले😊😊😊

2018 तो क्या आने वाले
हर नए साल में खुश और
सुखी रहेंगे आप
और आपका पूरा परिवार!!!
-अर्चना(01.01.2018)11 बजकर 25 मिनट पर....😊

7 comments:

Team Book Bazooka said...

Happy New year, This new year become published author in just 30 days, send request :http://www.bookbazooka.com/

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल मंगलवार (02-01-2018) को नववर्ष "भारतमाता का अभिनन्दन"; चर्चा मंच 2836

पर भी होगी।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
--
नववर्ष 2018 की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Kavita Rawat said...

सबके अपनी-अपनी हिस्से की शुभकामनायें
आगत का स्वागत
आपका भी नववर्ष मगलमय हो!

संजय भास्‍कर said...

...बहुत खूब नव वर्ष की असीम शुभकामनाये :(

प्रतिभा सक्सेना said...

सबकी कामनाओं में सब का हिस्सा-आपका हमारी में ,हमारा आपकी मेैं: यही है जीवन.

JEEWANTIPS said...

उत्कृष्ट व प्रशंसनीय प्रस्तुति........
नववर्ष 2018 की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।सादर...!

गगन शर्मा, कुछ अलग सा said...

शुभकामनाएं, सपरिवार स्वीकारें