Saturday, December 4, 2010

कहाँ गए वो लोग ??? ...............याद आई एक कविता दिलीप की........




 

(सभी चित्र गूगल से साभार)
भुलाए नही भूलते वे दिन.......दिलीप के दिल की  कलम से .....


पहले यहाँ पोस्ट कर चुकी   -------यहाँ आप पढ़ भी सकते है।

8 comments:

Girish Billore 'mukul' said...

वाह क्या बात है
ब्लागिंग पर राष्ट्रीय कार्यशाला आधिकारिक रपट

एस.एम.मासूम said...

अति सुंदर. मेहनत और कोशिश काबिल ए तारीफ है...

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

जैसी मार्मिक रचना वैसा ही पाठ!

प्रवीण पाण्डेय said...

उफ

Mithilesh dubey said...

बहुत ही उम्दा ।

संजय कुमार चौरसिया said...

bahut badiya

केवल राम said...

बहुत बढ़िया ....मेहनत रंग लायी है ...शुक्रिया

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

जितनी सुन्दर रचना!
उतना ही बढ़िया गायन!