Monday, December 6, 2010

इसमें बच्चे की क्या गलती ???



कल अचानक पहली कक्षा के बच्चों की क्लास लेने का मौका मिला। उनका एक टेस्ट लिया जाना था,चूंकि पेपर में प्रश्नों के सही उत्तर को, उनके जनरल नॉलेज के आधार पर भरना था मैने पेपर बच्चों को समझाना शुरू किया।प्रश्न स्वतंत्रता दिवस के बारे मे थे, और प्रश्न पढने के बाद जो उत्तर बच्चों ने दिये वो उनके जनरल नॉलेज के आधार पर सही थे।--


प्रश्न १-- भारत का नेशनल फ़ेस्टीवल (राष्ट्रीय त्यौहार) कब मनाते है ? (समझाया--जो सब लोग एक साथ मनाते है)
उत्तर मिला---भारत बंद......

प्रश्न२---कौनसे  दिन मनाते हैं?
उत्तर मिला---१३ अगस्त......(१५ को छुट्टी होने से १३ अगस्त को ही मना लिया गया था)

प्रश्न३---झंडा कहाँ फ़हराते हैं?
उत्तर मिला---स्टेज पर.....(फ़हराना का मतलब Hoist बताना पड़ा)

प्रश्न---कौन फ़हराता है ?
उत्तर मिला---प्रिंसीपल मेम...

प्रश्न---कितने रंग होते हैं?
उत्तर मिला---चार...केसरिया,सफ़ेद,सफ़ेद के बीच में नीला और हरा..........(हालांकि बच्चों को पता थाकि हमारे  झंडे को तिरंगा कहते है)...

11 comments:

संजय कुमार चौरसिया said...

bachche jo jyada dekhte hain bahi yaad rakhte hain

सतीश सक्सेना said...

:-))

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

नाइस पोस्ट!

Mithilesh dubey said...

nice

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

गज़ब के इंटैलिजैंट बच्चे हैं, बधाई हो।

संजय भास्कर said...

इसमें बच्चे की क्या गलती
bilkul sahi kaha hai aapne.........

Manish Kumar said...

इसे कहते हैं दिमाग में छपी तसवीर को बिना पूर्वाग्रह के उतारना...

प्रवीण पाण्डेय said...

अब क्या किया जाये?

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

sahI jaa rahaa hai!!

राजीव थेपड़ा said...

javaab to bilkul sahi hain.....kiski majaal hai jo is baat par kisi bacchhe ko maare....???

GirishMukul said...

सच बच्चों का भोलापन
प्रश्न२---कौनसे दिन मनाते हैं?
उत्तर मिला---१३ अगस्त......(१५ को छुट्टी होने से १३ अगस्त को ही मना लिया गया था)
ये तो सत्य है भारत का