Thursday, May 5, 2011

वाह ! ! ! क्या कमाल गीत है...

" भारतीय नागरिक " (जी यही नाम पता है उनका) के ब्लॉग पर सुना था ये गीत...और आदत से लाचार हो ये किया----
आप भी सुनिए--- पहले एकल



और अब युगल -- सी.एच.आत्मा जी के साथ..


  बहुत-बहुत आभार "भारतीय नागरिक" जी का.............................





13 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

"वाह ! ! ! क्या कमाल गीत है..."
--
आपका समवेत सुर भी बढ़िया है!

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

मन को छू लेने वाला बहुत सुंदर प्रयास है।

Kailash C Sharma said...

बहुत कमाल का सफल प्रयास...

संजय भास्कर said...

बहुत सुंदर गीत

प्रवीण पाण्डेय said...

युगल गाने का प्रयोग तो भा गया, हम भी लता जी के कुछ गाने उठाते हैं।

राज भाटिय़ा said...

"वाह ! ! ! क्या कमाल गीत है..."
बहुत सुंदर

rashmi ravija said...

कमाल का गीत है ...बहुत ही सुन्दर प्रयोग

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

excellent, keep it up!

Patali-The-Village said...

मन को छू लेने वाला बहुत सुंदर प्रयास है।

एम सिंह said...

सुन्दर गीत और खूबसूरत आवाज़.
बधाई.

दुनाली पर पढ़ें-
कहानी हॉरर न्यूज़ चैनल्स की

Udan Tashtari said...

बेहतरीन प्रयास!! अच्छा लगा.

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

कैसे कैसे प्रयोग कर लेती हो तुम.. सोच के आश्चर्य होता है.. कमाल का प्रयोग!!
कभी किशोर कुमार के साथ लता जी की जगह तुम्हारी आवाज़ भी सुनने को मिल सकती है!! संभव है ना???

RashmiVyas said...

वाह अर्चना ,गज्जब बचपन से तुम्हें जानती हूँ लेकिन तुम्हारी गायन कला से अनजान ही रह गई .सच्ची बहुत ही अच्छा गाती हो तुम .